Book PanditG Online

प्राण-प्रतिष्ठा / Pran Pratistha

प्राण-प्रतिष्ठा / Pran Pratistha

सनातन धर्म में मूर्ति पूजा का विशेष महत्व है। अपने आराध्य-पूज्य के मूर्त रूप को स्थापित करना व उसमें प्राणों की प्रतिष्ठा करना हमारी आस्था का केंद्र बिंदु है। प्राण-प्रतिष्ठा के बिना मूर्ति मात्र सजावटी होती है। मूर्ति की पूजा-अर्चना हेतु उसमें शास्त्रोक्त विधि से प्राणों की प्रतिष्ठा करना नितान्त आवश्यक होता है ।

Key Insights :

Our Promise :

Key Insights :

Our Promise :

पूजन सामग्री

  • कुबेर जी को बिठाने के लिए चौकी
  • चौकी पर बिछाने के लिए लाल कपडा
  • जल कलश
  • पंचामृत
  • रोली  और मोली
  • लाल चन्दन
  • सिन्दूर
  • लाल फूल और माला
  • कुबेर जी को बिठाने के लिए चौकी
  • चौकी पर बिछाने के लिए लाल कपडा
  • जल कलश
  • पंचामृत
  • रोली  और मोली
  • लाल चन्दन
  • सिन्दूर
  • लाल फूल और माला
  • कुबेर जी को बिठाने के लिए चौकी
  • चौकी पर बिछाने के लिए लाल कपडा
  • जल कलश
  • पंचामृत
  • रोली  और मोली
  • लाल चन्दन
  • सिन्दूर
  • लाल फूल और माला

Book Pandit Ji Now

pandit-ji-reading-mantras-2775577-2319299 (1)

We Provide Pandit Ji in Chandigarh, Mohali, Panchkula, Zirakpur, Jaipur, Delhi with Samagri & Without Samagri

Register as PanditG Now

pandit-ji-reading-mantras-2775577-2319299-1.png

Join with us from All Over India