Book PanditG Online

एकादशी उद्यापन / Ekadashi Udyapan

699165-1174442183853759891149251847934125616851142n

एकादशी उद्यापन / Ekadashi Udyapan

एकादशी उद्यापन दो दिन का कार्यक्रम होता है पहले दिन एकादशी को व्रत के साथ पूजा होती है तथा द्वादशी को हवन करके २४या१२ ब्राह्मणों को दान देकर भोजन करवाया जाता है।

प्राचीन काल से ही स्त्री और पुरुष दोनों के लिये यह सर्वाधिक महत्वपूर्ण संस्कार है। वेदाध्ययन के बाद जब युवक-युवती में सामाजिक परम्परा निर्वाह करने की क्षमता व परिपक्वता आ जाती है तो उसे गृर्हस्थ्य धर्म में प्रवेश कराया जाता है।

Key Insights :

Our Promise :

Key Insights :

Our Promise :

पूजन सामग्री

  • कुबेर जी को बिठाने के लिए चौकी
  • चौकी पर बिछाने के लिए लाल कपडा
  • जल कलश
  • पंचामृत
  • रोली  और मोली
  • लाल चन्दन
  • सिन्दूर
  • लाल फूल और माला
  • कुबेर जी को बिठाने के लिए चौकी
  • चौकी पर बिछाने के लिए लाल कपडा
  • जल कलश
  • पंचामृत
  • रोली  और मोली
  • लाल चन्दन
  • सिन्दूर
  • लाल फूल और माला
  • कुबेर जी को बिठाने के लिए चौकी
  • चौकी पर बिछाने के लिए लाल कपडा
  • जल कलश
  • पंचामृत
  • रोली  और मोली
  • लाल चन्दन
  • सिन्दूर
  • लाल फूल और माला

Book Pandit Ji Now

pandit-ji-reading-mantras-2775577-2319299 (1)

We Provide Pandit Ji in Chandigarh, Mohali, Panchkula, Zirakpur, Jaipur, Delhi with Samagri & Without Samagri

Register as PanditG Now

pandit-ji-reading-mantras-2775577-2319299-1.png

Join with us from All Over India